How To

Best Hindi Application Format | आवेदन पत्र हिंदी में लिखें

Hindi Application Format | आवेदन पत्र हिंदी में लिखें : Application को हिंदी में प्रार्थना पत्र , अर्जी या आवेदन कहते हैं। स्कूल में पढ़ाई के

4/5 - (2 votes)

Best Hindi Application Format | आवेदन पत्र हिंदी में लिखें :- दोस्तों, आपको किसी ना किसी के कारण कभी ना कभी तो Application जरूर लिखना पड़ा होगा। जब हम स्कूल में पढ़ते हैं। और किसी भी प्रकार की जब हमारी एग्जाम में कोई भी एप्लीकेशन के बारे में पूछा जाता है तब हमें एप्लीकेशन का जरूरत पड़ता है चाहे वह प्रधानाध्यापक के पास हो चाहे वह थाना प्रभारी के पास हो चाहे वह अपने भाई के पास तो अपने माता के पास तो अपने पिता के पास हो।

और आपको अच्छे से Application लिखना नहीं आया होगा, क्योंकि एप्लीकेशन हर किसी को लिखना नहीं आता है। या फिर अच्छे से लोग लिख नहीं पाते हैं। वैसे तो आजकल के जमाना में पत्र लिखना सिर्फ एग्जाम में ही पूछा जाता है या कहीं कोई इंटरव्यू होता है तभी जाकर के हमें किसी भी प्रकार का एप्लीकेशन लिखने का क्वेश्चन मिलता है।

Best Hindi Application Format | आवेदन पत्र हिंदी में लिखें
Best Hindi Application Format | आवेदन पत्र हिंदी में लिखें

दोस्तों, तो अगर आप भी Application के Format ( Hindi Application Format ) को जानना चाहते हैं, कि आखिर किस प्रकार से Application को लिखा जाता है और किस-किस के लिए कैसे-कैसे Application लिखा जाता है ? इसके बारे में पूरे विस्तार से हम जानते हैं।

अगर आप यह जानना चाहते हैं, तो हमारे इस पोस्ट के साथ अंत तक बने रहे, क्योंकि इस पोस्ट में हम आपको स्टेप बाय स्टेप करके एप्लीकेशन लिखने का फॉर्मेट बताएंगे। इस पोस्ट में आपको हम यह भी बताएंगे कि अच्छे से एप्लीकेशन कैसे लिखा जाता है। एप्लीकेशन लिखने का भी एक अलग ही तरीका होता है अब जितना ही अच्छा एप्लीकेशन लिखेंगे आपका इंटरव्यू में दिया गया आंसर उतना ही कामयाब होगा।

आपके सवाल – Hindi Application Format

1. Hindi Application Format 6. शिक्षक हेतु आवेदन पत्र हिंदी फॉर्मेट
2. अनुरोध पत्र ( Application ) क्या है ?7. पिता को पत्र हिंदी में
3. अनुरोध या आवेदन पत्र क्यों लिखते हैं ?8. Hindi Application Format Pita KE Liye
4. Application in Hindi Format9. थाना प्रभारी को शिकायत पत्र कैसे लिखें
5. प्रधानायध्यापक के पास पत्र कैसे लिखे 10. पिता जी के लिए अनुरोध पत्र हिंदी में

All Hindi Application Format

दोस्तों आज की इस लेख में हम थाना प्रभारी के पास प्रधानाध्यापक के पास अपने पिता के पास अपने भाई के पास आवेदन पत्र कैसे लिखा जाता है। इसके बारे में पूरी विस्तार से बताने वाले हैं। इसलिए आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें और लास्ट तक जरूर पढ़ें इस पोस्ट में आप सभी को लेख के साथ-साथ वीडियो भी मिलेगी जिसकी मदद से आप बहुत ही आसानी से आवेदन पत्र हिंदी में लिख सकते हैं।

Hindi Application Format

Application को हिंदी में प्रार्थना पत्र , अर्जी या आवेदन कहते हैं। स्कूल में पढ़ाई के दौरान छुट्टी लेने के लिए प्रार्थना पत्र, जब हमारा कोई इंटरव्यू होता है नौकरी के लिए उसे समय भी हमें प्रार्थना पत्र का क्वेश्चन आता है।छात्रवृत्ति प्राप्त करने के लिए आवेदन पत्र या फिर ट्रांसफर सर्टिफिकेट इत्यादि प्राप्त करने के लिए आवेदन पत्र लिखा जाता है। दोस्तों वैसे भी आजकल के जमाना में एप्लीकेशन लिखना तो बहुत कम हो गया है मगर अक्सर नौकरी लेते समय जब हमारा इंटरव्यू होता है तभी हमारा एप्लीकेशन लिखने का मौका मिलता है।

दोस्तों यह केवल पढ़ाई के समय ही उपयोग में नहीं आती, बल्कि एप्लीकेशन रोजमर्रा की जिंदगी में भी जरूरत के हिसाब से कभी-कभी लिखनी पड़ती है, जैसे कभी बिजली विभाग को, कभी पटवारी को, कभी थाना अधिकारी को। जब हम आईएएस आईपीएस थाना प्रभारी का भी इंटरव्यू देते हैं फिर भी हमें इसी तरह का एप्लीकेशन लिखने को मिलता है।

तो चलिए दोस्तों सबसे पहले हम यह जान लेते हैं की एप्लीकेशन क्या है और क्यों लिखा जाता है। Application को जरूरत के अनुसार शिकायत पत्र , आवेदन पत्र या प्रार्थना पत्र इत्यादि लिखना पड़ता है। तो आइए समझते है कि Application क्या होता है। और कब कम हमें एप्लीकेशन लिखने का जरूरत पड़ता है।

अनुरोध पत्र ( Application ) क्या है ?

अनुरोध पत्र ( Application ) क्या है ? : जब आप किसी विषय पर उस Subject से सम्बन्धित पर्टिकुलर विभाग से जुड़े हुए व्यक्ति या किसी संस्था के लिए एप्लीकेशन के द्वारा अनुरोध करते है, तो उस एप्लीकेशन को अनुरोध पत्र कहते हैं। अनुरोध पत्र को आवेदन पत्र भी कहा जाता है।

Application – अनुरोध पत्र यानी एप्लीकेशन जब हम किसी मुसीबत में पड़ जाते हैं या जब हम किसी से लड़ाई झगड़ा कर लेते हैं या हमारा घर का मामला हो या बाहर का मामला हो उसे समय भी हम थाना प्रभारी के पास एक अनुरोध पत्र यानी की एप्लीकेशन लिखने हैं जिसे Fir भी कह सकते हैं. उसे समय भी हमें अनुरोध पत्र का जरूरत पड़ता है।

जैसे की मान लीजिए थाना प्रभारी के पास जमीन के बारे में एप्लीकेशन लिखना या किसी कारण से वीडियो के पास एप्लीकेशन लिखना या किसी कारण से एसडीओ के पास एप्लीकेशन लिखना सपा के पास एप्लीकेशन लिखना। Bank के खाते से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए, या फिर नया खाता खुलवाने की सूचना देने के लिए बैंक के ब्रांच मैनेजर को आवेदन पत्र लिखना या फिर किसी महाविद्यालय के प्रधानाध्यापक को या किसी विद्यालय के प्रधानाध्यापक को आवेदन पत्र लिखना, किसी भी विवाद की सूचना गांव को देने हेतु ग्राम प्रधान को या फिर थाने के थाना प्रभारी को यह आवेदन पत्र लिखा जा सकता है, जिसके अनुसार इसमें किसी भी प्रकार की शिकायत या Request के लिए पत्र लिखा जाता है। और बिना एप्लीकेशन का आवेदन पत्र के बिना कोई भी शिकायत आपके दर्ज नहीं की जाएगी।

आप अन्य अवसरों पर आवासीय और आय प्रमाण पत्र जारी करने के लिए भी आवेदन पत्र लिख सकते हैं।

अनुरोध या आवेदन पत्र क्यों लिखते हैं ?


अनुरोध या आवेदन पत्र क्यों लिखते हैं ? : एप्लीकेशन को उस कंडीशन में लिखा जाता है जब आप अपने किसी मांग या प्रार्थना को स्वीकार करने या फिर उसकी पूर्ति करने के लिए अनुरोध करना चाहते हैं।

हमें अपने दैनिक जीवन में कार्यों के निष्पादन के लिए कई सरकारी अधिकारियों और कार्यालयों से अनुरोध और सिफारिशें करनी पड़ती है। इन कार्यों की पूर्ति के लिए एप्लीकेशन के रूप में उनके सामने अपनी मांग या प्रार्थना को रखना पड़ता है।

Application in Hindi Format


Application in Hindi Format : English Grammar हो या फिर हिंदी व्याकरण इसमें एप्लीकेशन लिखने के लिए कुछ नियम को फॉलो करना पड़ता है। यदि आपके द्वारा लिखा गया अनुरोध पत्र या प्रार्थना पत्र ठीक प्रकार से लिखा होगा, तभी सामने वाला उसे देखकर प्रभावित होगा और सकारात्मक कदम उठाने की तरफ प्रेरित होगा। आइए, इन नियमो के बारे में जानते हैं :-

जब भी आप पत्र लिख रहे हो , तो जिस कागज पर पत्र लिखा जा रहा है, वह सफेद रंग का और साफ होना चाहिए।
प्रार्थना पत्र में विवरण संक्षिप्त रूप से लिखना चाहिए।
पत्र को शुरू करने के लिए उसमें सबसे पहले “सेवा मे” शब्द लिखकर शुरुआत की जाती है।

इसके बाद जिस भी अधिकारी के लिए यह पत्र लिखा जा रहा है, उसके पद का नाम, उसकी संस्था का नाम और संस्था का पता लिखा जाता है।इसके बाद एक लाइन छोड़कर विषय अर्थात Subject संक्षिप्त रूप में लिखा जाता है, जिससे कि पढ़ने वाले को सब्जेक्ट देखकर ही यह मालूम हो जाता है कि यह पत्र किस विषय से संबंधित है।
इसके बाद मान्यवर / महोदय / महोदय आदि शब्दों का प्रयोग करते हुए प्रार्थना पत्र को लिखना शुरु कर देना चाहिए।

इसमें पत्र लिखने के कारण को संक्षिप्त रूप में रखना चाहिए।
विषय समाप्त हो जाने के बाद धन्यवाद शब्द लिखा जाता है।
पत्र के अंत के भाग में “आपका विश्वासपात्र” इत्यादि शब्द लिखकर प्रार्थना पत्र भेजने वाले व्यक्ति का नाम लिखा जाता है और उसके साथ तिथि लिखी जाती है।

Application Format in Hindi 2023


सेवा मे,

_(आप जिस Authority के लिए लिख रहे हैं उसका Name या Post , उदाहरण: प्रधानाचार्य/प्रधानाचार्या )

_(यहां पर Institute/School का नाम , उदाहरण : जनता पब्लिक हाई स्कूल)

__(संस्था जिस जगह पर है उसका नाम, उदाहरण: झारखण्ड पलामू 822122 )

विषय: ( जिस Subject पर आप Application लिख रहे हैं, वो लिखें )

महोदय/महोदया, ( यदि पुरुष हैं तो महोदय लिखें और अगर स्त्री हैं तो महोदया लिखें)

(अब यहां पर अपना Reason लिखें, पांच से सात पंक्तियों में संक्षिप्त वर्णन)

आपका विश्वासपात्र

नाम :- ( अपना Name लिखें ) / दीपक कुमार

अनुक्रमांक :-

कक्षा :- 11

दिनांक :- 20/10/2023

नीचे दी गयी Picture की मदद से आप जान सकते हैं, कि अपने Principal को अवकाश के लिए आवेदन पत्र ( Application for Leave ) कैसे लिख सकते हैं।

प्रधानायध्यापक के पास पत्र कैसे लिखे

विद्यालय के प्रधानाचार्य को अस्वस्थ होने पर 4 दिन के अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र।
सेवा में,

श्रीमान प्रधानाचार्य जी,

दयानंद आदर्श विद्यालय

लोहरसी

विषय: अस्वस्थ होने के कारण विद्यालय के अवकाश मांगने हेतु प्रार्थना पत्र।

महोदय,

सविनय निवेदन इस प्रकार है कि मेरा नाम ईशान कौशल है और मैं आपके विद्यालय के कक्षा 11 का छात्र हूं। मेरा स्वास्थ्य पिछले कुछ दिनों से ठीक नहीं है और डॉक्टर ने मुझे कुछ दिन घर पर आराम करने की सलाह दी है। मैं स्कूल आने में समर्थ नही हूं। इसीलिए मैं आपसे विद्यालय के 4 दिन का अवकाश मांगने की प्रार्थना करता हूं। कृपया आप मुझे 4 दिन का अवकाश प्रदान करें। आप की अति कृपा होगी।

आपका आज्ञाकारी छात्र
दीपक कुमार
कक्षा 11
दिनांक…..

प्रधानायध्यापक के पास पत्र कैसे लिखे
प्रधानायध्यापक के पास पत्र कैसे लिखे

शिक्षक हेतु आवेदन पत्र हिंदी फॉर्मेट

शिक्षक हेतु आवेदन पत्र हिंदी फॉर्मेट
सेवा मे,
प्रधानाचार्य,

विषय :- शिक्षक हेतु आवेदन पत्र।

महोदय,
कल अमर उजाला समाचार पत्र में सामाजिक विज्ञान, संस्कृत और गणित में अध्यापिका के लिए आपका जो विज्ञापन प्रकाशित हुआ है, उस पद के लिए मैं स्वयं को उपस्थित कर रहा हूं।

मैं माध्यमिक और उच्च माध्यमिक परीक्षाओं में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुआ था। मुझे माध्यमिक परीक्षा में संस्कृत में 85%सामाजिक विज्ञान में 91% और गणित में 85% अंक मिले थे। मैं 2022 में समाजिक विज्ञान में आनर्स सहित बी.ए. परीक्षा में उच्च प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुई।
मैं 2023 से बालिका पब्लिक स्कूल में अवकाश रिक्ति पर गणित और संस्कृत पढ़ा रहा हूं। मै स्थायी पद की तलाश मे हूँ।
कृपया मुझे सूचित करें कि मैं व्याक्तिगत साक्षात्कार के लिए कब आ सकता हूं।

धन्यवाद्

भवदीय,
राजू
फोन: ( मोबाइल नंबर)

Hindi Application Format Pita KE Liye – पिता को पत्र हिंदी में

पिता जी के लिए अनुरोध पत्र हिंदी में

102 , पंजाब ,

जालंधर कैंट

दिनांक ………………………


आदरणीय पिताजी,


    सादर चरण स्पर्श! / सादर प्रणाम।


     मैं यहाँ आनंदपूर्वक हूँ और आशा है, आप सब भी वहाँ सकुशल होंगे। मेरी परीक्षा निकट आ रही है, मैं समय से अध्ययन में जुट गया था अतः सभी विषयों की तैयारी अच्छी तरह हो गयी है। थोड़ी सी कठिनाई विज्ञान की तैयारी में हुयी थी किन्तु मैंने पुस्तकालय से पुस्तक लेकर अपना कार्य पूर्ण कर लिया है। अब मुझे विशेष चिन्ता नहीं है। विश्वास है विगत वर्षो की तरह प्रथम श्रेणी के अंक प्राप्त करने में सफल रहूँगा।

    पूज्य पिताजी व माताजी को चरण स्पर्श व छोटो को प्यार।

आपका आज्ञाकारी पुत्र / आपका प्रिय पुत्र

दीपक

थाना प्रभारी को शिकायत पत्र कैसे लिखें

सेवा में,

श्रीमान थाना प्रभारी महोदय / श्रीमान थानाध्यक्ष

पांकी रोड , पलामू (झारखंड )

विषय:- लड़ाई झगड़ा के संबंध में शिकायत पत्र/ लड़ाई झगड़ा के बारे में

महोदय,

सविनय निवेदन है कि मैं (आशीष कुमार) जौनपुर ( रामपुर गांव )का निवासी हूं । मैं एक व्यापारी हूँ। महासय मैं अपनी पत्नी और अपने दो बच्चों के साथ रहते है

यह घटना दिनाक …………… शाम समय ………….. बजे की है , मेरा मौसेरा भाई दीपक कुमार शराब पीकर मेरे बच्चे रोहित और राजू के साथ दुर्व्यवहार कर रहा था. मेरी पत्नी चंदा ने जन इसका विरोध किया तो उसके साथ भी गाली गलौच करने लगा। और उसे भी पीटा।

महाशय इस प्रकार के लडाई झगडे मेरे अनुपस्थिति में आए दिन होते रहते है।

अतः आप से नम्र निवेदन है कि आप कोई ठोस कदम उठाए ताकि मुझे और मेरे परिवार वालो को कोई परेशानी ना हो और शांति से हम लोग हमलोग रह सके।

सधन्यवाद!

दिनांक :- DD/MM/YYYY आज का दिनांक लिखे

आपका विश्वासी

नाम:- XXXX kumar

मोबाइल नंबर :- XXXXX3488

हस्ताक्षर :- ……….. अपना नाम लिखे।

किसके किसके पास एप्लीकेशन ( Application ) लिखा जाता है.

किसके किसके पास एप्लीकेशन ( Application ) लिखा जाता है.आप सभी का यही प्रश्न रहता है कि किसके किसके पास हम अनुरोध पत्र यानी एप्लीकेशन पत्र लिख सकते हैं।

  • जिलाधिकारी के पास
  • पुलिस अधिकारी के पास
  • थाना प्रभारी के पास
  • नगर निगम के पास
  • मुखिया के पास
  • विधायक के पास
  • जिला परिषद के पास
  • सरपंच के पास सरपंच
  • मुख्यमंत्री के पास
  • प्रधानमंत्री के पास

वैसे तो बहुत सारे पद होते हैं जिनके पास आप एप्लीकेशन लिख सकते हैं। आप सभी को इनके पास शिकायत दर्ज करने के लिए अनुरोध पत्र यानी एप्लीकेशन लिखना अनिवार्य है। बिना एप्लीकेशन और अनुरोध पत्र के बिना कोई भी शिकायत दर्ज नहीं की जाती है।

Conclusion : Hindi Application Format

दोस्तों हम आशा करते हैं कि इस लेख में आप सभी को बहुत सारे एप्लीकेशन फॉर्मेट मिल गए होंगे यानी कि अनुरोध पत्र लिखने का तरीका मिल गया होगा आप सब जान गए होंगे कि अनुरोध पत्र कैसे लिखा जाता है।

और भी किसी के ऊपर एप्लीकेशन लिखने के लिए आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम कोशिश करेंगे कि हम उसके ऊपर भी एप्लीकेशन फॉर्मेट जरूर बनाएं।

हम अपनी वेबसाइट पर हर प्रकार की जानकारी लेकर जाते रहते हैं। ऐसे ही जानकारी पाते रहने के लिए आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करते रहें और अपना प्यार बनते रहें धन्यवाद।

इसे भी पढ़े –

Gk App | Gk App Download

10 Best 2 Photo Banane Wala Apps | दो फोटो बनाने वाला ऐप्स

Chalu Ladkiyon KE Whatsapp Number | चालू लड़कियों के नंबर

Single Girl Whatsapp Numbers | Single Girl Whatsapp Number

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
x